Lets change India
मंथन क्रमांक -34 भीम राव अंबेडकर कितने नायक कितने खलनायक?
मंथन क्रमांक -34 भीम राव अंबेडकर कितने नायक कितने खलनायक? किसी भी महत्वपूर्ण व्यक्ति की सम्पूर्ण समीक्षा के बाद या तो हम उसे नायक के रुप में मानते है या खलनायक के रुप में या औसत और सामान्य। आकल...
कल दिन भर परिवार के संबंध में अनेक प्रश्न आये तथा कई लोगों ने मेरे परिवार की नियमावली जाननी चाही। आपके समक्ष प्रस्तुत है आप और चर्चा कर सकते है।
कल दिन भर परिवार के संबंध में अनेक प्रश्न आये तथा कई लोगों ने मेरे परिवार की नियमावली जाननी चाही। आपके समक्ष प्रस्तुत है आप और चर्चा कर सकते है। (1)समूह का नाम कांवटिया परिवार क्रमांक एक होगा। (...
मंथन क्रमांक -33 पर्सनल ला क्या, क्यों और कैसे? – बजरंग मुनि
आज कल पूरे भारत मे पर्सनल ला की बहुत चर्चा हो रही है । मुस्लिम पर्सनल ला के नाम पर तो पूरे देश मे एक बहस ही छिडी हुई है। सर्वोच्च न्यायालय की एक बडी बेंच इस मुद्दे पर विचार कर रही है कि पर्सनल...
आजकल ईवीएम की बहुत चर्चा चल रही है कि क्या ईवीएम भी हैक हो सकता है । मेरे विचार से वर्तमान युग में सब कुछ संभव है और इस स्थिति में ईवीएम भी हैक किया जा सकता है तथा हारने वाले उम्मीदवार भी झूठा आरो...
मंथन क्रमांक- 32 उपदेश, प्रवचन, भाषण और शिक्षा का फर्क
मंथन क्रमांक 32 उपदेश ,प्रवचन, भाषण और शिक्षा का फर्क दुनिया में कोई भी दो व्यक्ति पूरी तरह एक समान नहीें होते, उनमें कुछ न कुछ अंतर अवश्य होता है। प्रत्येक व्यक्ति जन्म से मृत्यु तक निरंतर ज्ञ...
मंथन क्रमांक-31 कश्मीर समस्या और हमारा समाज
मंथन क्रमांक 31 कश्मीर समस्या और हमारा समाज कुछ बातें स्वयं सिद्ध हैं- 1 समाज सर्वोच्च होता है और पूरे विश्व का एक ही होता है अलग अलग नहीं। भारतीय समाज सम्पूर्ण समाज का एक भाग है, प्रकार नहीं। 2 ...
मंथन क्रमांक 30 सामाजिक आपातकाल और वर्तमान वातावरण
मंथन क्रमांक 30 सामाजिक आपातकाल और वर्तमान वातावरण जब किसी अव्यवस्था से निपटने के लिए नियुक्त इकाई पूरी तरह असफल हो जाये तथा अल्पकाल के लिए सारी व्यवस्था में मुख्य इकाई को हस्तक्षेप करना पड...

Polls

एन्डरसन को फंसी दी जनि चाहिए या नहीं ?

View Results

क्या हमारे पास वोट देने के अलावा ऐसा कोई अधिकार है जिन्हें संसद हमसे छीन सकती है?

संसद अपनी आवश्यकता अनुसार जब चाहे हमारे सारे अधिकार छीन सकती है जैसा की इन्द्रा जी ने आपातकाल लगा कर किया था|

kaashindia
Copyright - All Rights Reserved / Developed By Weblinto Technologies Thanks to Tulika & Ujjwal